रिसर्च में हुआ हैरान कर देने वाला खुलासा: जो व्यक्ति साथी से चिपक कर सोता हैं वो

यह बात सच है कि इंसान को अकेले सोना ज्यादा पसंद नहीं होता है। अब इंसान तो वैसे भी सामाजिक प्राणी ही है। तो अब हाल ही में एक रिसर्च आई है जो बताती है कि इंसान अगर अपनी प्रेमिका या पत्नी से चुपकर सोता है तो यह उसके स्वास्थ्य के लिए अच्छी बात है।ये हैं फायदे

रिसर्च बताती है कि अगर पति.पत्नी दोनों एक दूसरे को सोते वक़्त कसकर पकड़कर सोते हैं तो इससे एक अच्छी नींद प्राप्त होती है। अकेलेपन का एहसास ना होना ही अच्छी नींद का मन्त्र रहता है। जब दो लोग जो एक दुसरे से प्यार करते हैं और गले लगकर सोते हैं तो बहुत ही कम लोग हैं जिन्हें उठने पर कभी सरदर्द हुआ हो। ऐसा सोना इंसान के लिए बहुत ही अधिक लाभदायक रहता है।

Loading...

हाल ही में अमेरिका की एक संस्था ने 1000 लव कपल्स पर शौध किया हैं इसमें 500 लव कपल्स ऐसे थे जो रात में अकेले या दूर दूर सोते थे और वहीँ अन्य 500 ऐसे लोग थे जो रात में एक दुसरे से चिपक कर सोते थे रिसर्च में पाया गया कि एक दुसरे से चिपक कर सोने वाले लव कपल्स शारीरिक और मानसिक रूप से कही ज्यादा फीट थे वहीँ जो लव कपल्स अकेल या दूर दूर सोते थे उनके जीवन में कुछ ना कुछ शारीरिक या मानसिक परेशानियाँ बनी रहती थी इस रिसर्च के आधार पर यह निष्कर्ष निकाला गया कि अपने पार्टनर से चिपक कर सोने से कई स्वास्थवर्धक लाभ होते हैं आज हम आपको उन्ही लाभों से रूबरू करवाएंगे

पार्टनर से चिपक कर सोने के फायदें

इस रिसर्च में सामने आया कि शादी से पहले कुछ लोगों में चिड़चिड़ापन होता है और अगर वही लोग शादी के बाद अपनी पत्नी के साथ इस तरह सोते हैं तो उनमें से यह बीमारी खत्म हो चुकी होती है। ऐसा ही उन लोगों के भी साथ होता है जो अपने प्रेमिका से गले लगकर सोते हैं।

अगर आप अपने प्रेमी या प्रेमिका के साथ सटकर सोते हैं तो इससे हर तरह की चिंताओं से इंसान को मुक्ति प्राप्त हो जाती है। ऐसा तो अब मेडिकल साइंस भी कहने लगी है कि सोते वक़्त अकेलेपन से व्यक्ति बहुत तरह की चिंताओं से घिर जाता है। सोते वक़्त अगर कोई हमारे दिल की बात सुनता है तो इससे चिंतायें खत्म होने लगती हैं।

अब यह तो इस तरह से सोने का सबसे बड़ा फायदा है। इस सर्वे में बताया गया कि जो लोग इस तरह से सोते हैं उनकी सोचने और याद करने की क्षमता बहुत अच्छी हो जाती है।

जब व्यक्ति रात में अकेले सोता हैं तो उसके दिमाग में कई सारी चिंताए चलती रहती हैं लेकिन पार्टनर के साथ गले लगा के सोने से वह व्यक्ति उन चिंताओं के बारे में भूल जाता हैं और उसे होने वाला मानसिक तनाव कम हो जाता हैं

रिसर्च में ये भी पाया गया कि जो व्यक्ति अपने पार्टनर को गले लगा कर सोते हैं उनकी यादाश्त काफी तेज़ हो जाती हैंण् ऐसे व्यक्ति का दिमाग शार्प होने लगता हैं और उसे नए नए आईडिया सोचने में और समस्याओं को सुलझाने में आसानी होती हैं

loading...

यदि आपको भी अकेले सोने की आदत हैं या आप अपने पार्टनर से दूर हट के सोते हो तो आज से ही अपनी ये आदत बदल दो। तो कैसी लगी आपको मेरी पोस्ट ऐसे ही पोस्ट लगतार पाने के लिए लाइक करे हमरा पेज और हाँ शेयर करके अपने दोस्तों से भी पूछे ये सवाल

loading...