लाठी लेकर माफि‍याओं से भि‍ड़ने अकेले पहुंची ये महिला, जानें कौन है ये..

जैसे की आप जानते है कि आईएएस अफसर बनना आसान नही है. बहुत सारे जवान व्यक्ति यह नौकरी पाना चाहते है और इस चीज़ को पाने का सपना देखते है. पर कहते है कि इस को नौकरी पाने की राह आसान नही है, लोगो को काफी ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है.

लोग शारीरिक मेहनत तो आसानी से कर लेते है, लेकिन दिमागी मेहनत सबके बस की बात नही है. इसीलिए लाखो लोग इस परीक्षा में बैठते है, लेकिन सफलता कुछ ही लोगो को मिलती है. यानी लाखो ने पेपर दिया पर उसे उत्तीर्ण सिर्फ कुछ हजारो ने किया और इतना सब पढ़ कर आदमी थोडा सामान्य आदमियो से अलग हो जाता है.

source : newstrack.com

इस परीक्षा के बाद उसे काफी चीज़े सिखाई जाती है, जिससे वह बिलकुल अनजान होता है और वह पूरी तरह बदल जाता है. आइए हम आपको एक ऐसी ही अफसर की कहानी बतायेंगे जो अपराधियो को पकड़ने के लिए कोई भी हद तक चली गयी.

Loading...

यह है एसडीएम ईशा दुहन जो इन दिनों चर्चा में हैं। दरअसल, बीते सोमवार को वह खनन माफियाओं को पकड़ने के लिए अकेले जंग पर निकल पड़ी थीं। रोहनियां के ऊंच गांव पहुंचकर 5 ट्रैक्टर सीज किए और एक ड्राइवर की भी गिरफ्तार किया और साथ कई लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज भी करवाया।

हरि‍याणा के पंचकूला की रहने वाली ईशा ने बताया कि उन्होंने 2014 के बैच में ऑल इंडि‍या में 59 रैंक हासिल कर इस परीक्षा को पास किया था. जब इनसे मीडिया ने पूछा की आप अकेले क्यों गयी? आप को इनसे डर नही लगा ?

loading...

तो इन्होने कहा कि – “काफी लोग इनसे मिले हुए है और जैसे ही में आगे सुचना देती हूँ और गिरफ्तारी के लिए निकलती हूँ, तो वह लोग गायब हो जाते है. इसलिए मैं डंडा लेकर निकली, उन्होंने मुझे देखा तो भागने लगे. तभी मैने एक ड्राईवर को पकड़ा और बाकी समान जब्त किया. मुझे डर कभी नही लगा और वह इसीलिए की मेरा पापा पुलिस अफसर है. उन्होंने कभी डर महसूस ही नही होने दिया.”

loading...