भूलकर भी नहीं करना चाहिए सुंदर महिला से विवाह, इस कारण को जान हैरान रह जायेंगे आप..

कोई भी बात उठती है तो उसके सभी तर्क अवश्य समझने की कोशिश करनी चाहिए। आज के दौर भी सफल लोगों के पीछे भी बहुत सारी नीतियों और सूत्रों का अनुसरण माना गया है। इन सफल लोगों के पीछे कुछ पुराने विचारकों की बातें भी कारण मानी जाती है।

एक ऐसे ही महान कूटनीतिज्ञ और विचारक माने जाते हैं चाणक्य आचार्य भी, जिनकी बातें आज भी सफल व्यक्तियों द्वारा मानी जाती है। आपको बता दें कि आचार्य चाणक्य ने जीवन में कभी न हार मानने के लिए भी कुछ बातें बताई है।

Loading...

आचार्य चाणक्य ने जीवन में कभी न हार मानने के लिए भी बताई ये बातें

कभी भी किसी काम को बगैर सोचे-समझे नहीं करना चाहिए क्यूंकि ऐसा करने से असफलता ही आपके हाथ लगेगी। सबसे पहले काम को करने से पहले एक बार मन में ‘क्यों, क्या, कैसे’ से जुड़े हुए सवाल स्वयं से जरूर पूछें। कभी भी वेद-पुराणों के ज्ञान का कभी भी अनादर नहीं करना चाहिए।

चाणक्य अनुसार किसी महिला की बदसूरती का भी कभी उपहास नहीं करना चाहिए। साथ ही आचार्य का कहना है कि कभी भी अग्नि, गुरू, ब्राह्मण, गौ, कुमारी कन्या, वृद्ध और बालक पर पैर न लगाने को कहा है। इन्हें पैर से छूने से आप पर बदकिस्मती का पहाड़ टूट सकता है। इसके पीछे कारण माना जाता है कि ऐसा करने से हम भगवान का अपमान करते हैं।

भूलकर भी नहीं करना चाहिए सुंदर महिला से विवाह

loading...

बेशक आज के समय में ढेरों लोग सबसे पहले किसी महिला की सुदंरता ही देखते हैं और अधिकतर लोग महिला की सुदंरता देखकर ही शादी भी रचाते हैं। मगर आचार्य चाणक्य का मानना है कि ऐसी महिला जो केवल सुदंर हो वो बुद्धिमान भी होगी, ऐसा होना बहुत कम संभव है, इस वजह से शादी हमेशा उच्च विचारों की महिला से करें न कि मात्र सुंदर महिला से।

loading...