इस मंदिर में कुछ देर के लिए जीवित हो जाता है मृत इंसान भी, जानें क्या है रहस्य..

भारत चमत्कारों का देश है. भारत में ऐसी जगह आज भी है जहाँ चमत्कार और अविश्वसनीय चीज़े होती है. काफी लोग इसे अंधविश्वास मानकर भूल जाते है, तो कई आज भी इन्हें सच मानकर अपना जीवन व्यतीत करते है.

भारत में अनेक मंदिर है और इनका निर्माण प्राचीन काल से लेकर अभी तक हो रहा है. इनमें से कुछ तो सामान्य मंदिर है पर कुछ मंदिरों को चमत्कारी बताया गया है. इनके लिए माना जाता है कि इन मंदिरों में सच्चे मन से की गई प्रार्थना भी जरूर पूरी होती है।

Loading...

हमारे देश में भी कई चमत्कारी और रहस्यमयी मंदिर है, जहां लोगों की बड़ी से बड़ी समस्याओं का हल चुटकियों में निकल जाता है. ऐसा ही एक रहस्यमयी मंदिर है जहां किसी व्यक्ति के शव को वहा लेकर जाया जाए तो उसकी आत्मा उस शव में पुन: प्रवेश कर जाती है और वह इंसान दोबारा जीवित हो उठता है।

तो चलिए हम आपको उस मंदिर के बारे में बताये…

बता दें कि यह चमत्कारी मंदिर यमुना नदी की तट पर बर्नीगाड़ नामक जगह से सिर्फ 4-5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहाँ के लिए मान्यता है कि समुद्र तल से इस स्थान की ऊंचाई लगभग 1372 मीटर है। देखते ही चौकाने वाली यह जगह गुफाओं और भगवान शिव के मंदिर के प्राचीन अवशेषों से घिरा हुआ है। यानी इस मंदिर पर भोले बाबा की कृप्पा है.

लोगो का मानना है कि मंदिर में अगर किसी शव को इन द्वारपालों के सामने रखकर मंदिर के पुजारी से उस पर पवित्र जल छिड़कें तो वह मृत व्यक्ति कुछ समय के लिए पुन: जीवित हो उठता है. जीवित होने के बाद वह वहा भगवान के नाम लेता है और उसे गंगाजल प्रदान किया जाता है.

loading...

गंगाजल ग्रहण करते ही उसकी आत्मा फिर से शरीर त्यागकर मुक्त हो जाती है. कहते है कि वहा भगवान का वास है. इसीलिए भगवन उसे एक बार दुबारा जीवन देते है. ताकि वह उनका नाम लेकर स्वर्ग में चला जाये.

loading...