खुलासा : बाबा की गुफा में हर दिन जाती थी नई लड़की, जानें और भी कई खतरनाक रहस्य

बलात्कारी बाबा राम रहीम को 20 साल की जेल हो चुकी है. अब उसकी सजा के बाद उसके जीवन से जुड़े तमाम रहस्य भी एक एक करके बाहर आ रहे हैं. जिनमें से कुछ रहस्य लगातार चर्चा का विषय बने हुए हैं. उन्हीं में से एक विषय उसकी रहस्यमयी गुफा का भी है, जहाँ वो अपने घिनोने कुकर्मों को अंजाम देता था. बाबा के कुकर्मों को ‘पिताजी की माफ़ी’ कहने की खबर भी मीडिया रिपोर्ट्स में सामने आई है.

उल्लेखनीय है कि बलात्कारी बाबा राम रहीम की गुफा के बारे में तो पहले ही खुलासा हो चुका है, लेकिन हाल ही में मीडिया रिपोर्ट्स में सामने आया है कि बाबा बलात्कारी हर दिन एक नई लड़की के साथ अपना दिल बहलाता था. इस गुफा में उसकी सेवा के लिए 209 कथित साध्वी रहा करती थीं, जिनमे स्कूली छात्राएं भी शामिल थीं.

हर रोज नई लड़की चाहिए होती थी

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, राम रहीम के जेल जाते ही उसके राज खुलते जा रहे हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बाबा राम रहीम की एक पुरानी अनुयायी ने खुलासा किया है कि बाबा को अपनी हवस मिटाने के लिए हर रोज नई लड़की चाहिए होती थी. अपनी इस अय्याशी के लिए ही उसने गुफा में एक स्विमिंग पूल भी बनावा रखा था.

Loading...

कहा जा रहा है कि बाबा राम रहीम की गुफा का एक दरवाजा गर्ल्स स्कूल के कैंपस में खुलता था. वहीं से ये बलात्कारी बाबा अपनी पसंद की लड़कियां चुनकर लाता था. इस दौरान वह लड़कियों के साथ जानवरों से भी बुरा सुलूक करता था. पीड़ित साध्वी के दावे अनुसार उसकी गुफा से अक्सर आधी रात में बाहर चीखने की आवाजें सुनाई देती थीं. बताया गया है कि बाबा गुफा के ऊपर वाले हिस्से में आकर खिड़कियां खोलता था.

30 कथित साध्वियों की ड्यूटी लगती थी

ये भी सामने आया है कि बाबा की सेवा के लिए दो सौ से ज्यादा साध्वियों को रखा गया था, जिनमें रोजाना 30 कथित साध्वियों की ड्यूटी बाबा के पास लगती थी. उस जगह पुरुषों के जाने पर पाबंदी थी. बाबा को खाने-पीने के साथ अभिनय और गायकी का शौक था,

loading...

साथ ही राजाओं की तरह कपड़े पहनने का भी शौक था. इसके लिए महंगे कपड़े तैयार किए जाते थे. वहीं बाबा की गुफा में जाना कोई आम बात नहीं थी. बताया गया है कि उसकी गुफा में अंदर आने के कोडवर्ड होते थे. खुद को महाराजा समझने वाले इस बाबा के डेरे में इस्तेमाल होने वाले कोडवर्ड पहले ही बेनकाब हो चुके हैं.

loading...