सन्न रह जायेंगे जानकर इस जगह के बारे में जहाँ होती है खून की बारिश…

कहते है इस धरती पर बिना कारण कुछ नही होता. अगर कोई व्यक्ति उस घटना को बिना जाने उसके बारे में टिप्पणी करे. वह बिलकुल गलत होगा. प्रकृति हर तरह से मानव को आश्चर्यचकित व् दंग करती रहती है। आज हम आपको ऐसा ही एक चौंकाने वाला विषय में बतायेंगे है, वह है लाल बारिश या खूनी बारिश के बारे में।

आप को बता दे की पिछले दो दशकों में कई बार यह घटना दक्षिणी तटीय इलाकों में देखी गयी है। जब यह बारिश पुराने दशको में होती थी. तब वह के लोग इसे भगवान का श्राप मान कर सोचते थे की भगवान उनसे खफा होकर क्रोधवश बारिश को खून जैसा बना रहा है. लेकिन जैसे जैसे विज्ञान ने तरक्की की है तो अब वैज्ञानिको ने इसका कारण सबको बता दिया है.

Loading...

आप को बता दे की लाल बारिश में, पानी खून जैसा लाल हो जाता है। अक्सर इसे देखकर लोगों में डर की भावना जग जाती है। लेकिन वैज्ञानिक बताते हैं कि, इसमें डरने जैसी कोई बात नहीं है। यह एक प्राकृतिक घटना है। दरअसल लाल बारिश के पीछे एक कवक होता है। जो यह अल्गा नाम का कवक पेड़ों की भीगी शाखाओं और चट्टानों पर उगता है।

यह कवक नंगी आंखों से नही देखा जा सकता और आप को बता दे की उसके बारीक बीजाणु हवा में उड़ते रहते हैं। बारिश के दौरान वह लाल रंग छोड़ते हैं। इससे पूरा माहौल लाल हो जाता है। इसी कवक के कारण यह लाल वर्षा होती है. और यह मुख्यत: दक्षिणी देशो में ज्यादा होती है.

loading...

माना जाता है की पुराने समय के लोग इस वर्षा को भगवान का ग़ुस्सा बता कर न जाने कितने गलत कामों को अंजाम देते थे. कुछ खगोल वैज्ञानिको ने बताया है कि इस वर्षा के कारण पुराने समय के लोग आत्महत्या भी कर लेते थे और कुछ जगहों पर तो काफी जानवरों और इंसानों की बलि दी जाती थी ताकि भगवान वापिस खुश हो सके.

loading...