जानिए उस कूड़े वाले के बारे में जो प्रधानमंत्री से ज़्यादा कमाता हैं

ऐसा कहते है कि दुनिया में कोई भी काम छोटा या बड़ा नहीं होता ज़रूरत है की आप उस काम को मेहनत और पूरी ईमानदारी से करें तो एक दिन आपका यही काम देश में सफलता के नए अध्याय लिख सकता है। कुछ ऐसी ही कहानी इस कूड़े वाले की हैं , जो अपने कूड़े के व्यवसाय से हर महीने 11 लाख रुपये तक कमा लेता है।

हम बात कर रहे है जयप्रकाश चौधरी की है जिसे कयी लोग अब संतु के नाम से भी जानते है। बात हैं 1994 की जिस समय संतु 17 साल का हुआ तो वह पैसे कमाने के लिए दिल्ली आ गया। इस दौरान वो अपने परिवार के लिए कमाई कर रहा था। वह कूड़े उठाने का काम करता था जिसमें 150 रुपये दिन के हिसाब से ही मिल पाता था। परंतु आज यही कूड़े वाला लाखों रुपय की कमाई रहा है और हर महीने करीब 11 लाख रूपये का कचरा बेच रहा है।

यह सब जयप्रकाश चौधरी ने लगभग 23 साल तक मेहनत करने के बाद किया है। वो कचरे में से निकलने वाली उन चीजों को अलग करता था जिन्हें बेचा जा सकता है। 1996 में राजा बाज़ार झुग्गी में सड़क के किनारे दुकान खोल कर उसने शुरुआत की थी। यहाँ वो कचरा बिनने वालों से सूखा कचरा खरीदता था। उसने 1999 में कूड़े उठाने वालों का एक संगठन बनाया और वही उनकी जिंदगी का टर्निंग पॉइंट साबित हुआ। उन्होंने इस संगठन को सफाई सेना नाम दिया।

Loading...

बाद में उन्होंने एक संगठन NGO – Chintan Environmental Research and Action Group के साथ जोड़कर कूड़ा उठाने वालों के साथ होने वाले भेदभाव के लिए लड़ना शुरू किया। साल 2000 में वह राजा बाज़ार से कोटला शिफ्ट हो गए।

उनके गोदाम को सरकार द्वारा तोड़ दिया गया था। – लेकिन ऐसी स्थिति में भी जयप्रकाश चौधरी ने हिम्मत नहीं हारी और दूसरी जगह काम करना शुरू कर दिया। 2012 में उन्होंने गाजियाबाद के सिकंदरपुर में अपना सेंटर स्थापित किया जिसमें 160 कर्मचारी काम करते है।

कभी 150 रूपये कमाने वाला जयप्रकाश चौधरी अपने इस बिजनेस से हर महीने करीब 11 लाख रूपये कमा लेते है। संजू की कहानी आज किसी प्रेरणा से कम नहीं है। उनकी जिंदगी से यही सबक मिलता है कि कोई भी काम छोटा या बड़ा नहीं होता, आप किसी भी रास्ते को चुनकर मंजिल पर पहुँच सकते है लेकिन इसके लिए आपको लगातार एक ही रास्ते पर चलना होगा।

यहाँ हम आपको बताते चले की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रतिमाह सेलरी 1,58,000 हैं

loading...