जानिए क्या है प्रधानमंत्री स्टार्टअप योजना, सरकार देगी 10 लाख की मदद

भारत एक ऐसा देश है जहां ज्ञानी बसते है, महात्माओं ने वास किया है, इसके साथ ही देश के अधिकतर युवा दूर दराज़ प्रदेशों में भी देश का गौरव बढ़ाने में कामयाब रहे है। इसके विपरित देखा गया है कि देश को सही दिशा न मिलने के कारण अधिकतर युवा बिना रोज़गार के घर पर बैठने के लिए मज़बूर है। ऐसे में पीएम मोदी द्वारा चलाई गई ‘स्टार्टअप इंडिया’ देश के युवा के लिए नई उपलब्धि के लिए सहायक साबित हो सकती है। आखिर क्यों आइए जानते है।

क्या है स्टार्टअप योजना – What is the startup plan

स्टार्टअप इंडिया योजना से पहले हमें स्टार्टअप के बारें में ज़ान लेना चाहिए। स्टार्टअप का अर्थ एक नई कंपनी के रुप में किया जाता है जो किसी एक व्यक्ति या फिर एक समुह द्वारा चलाई जाती है। वहीं केंद्र सरकार का अहम उद्देश्य भी स्टार्टअप के साथ जोड़कर देखा गया है।

Loading...

स्टार्टअप इंडिया से देश के अधिकतर युवा देश के आर्थिक विकास में अपना योगदान देने में सहायक होंगे। साथ ही खुद का व्यवसाय बनाने और स्वंय के लिए नौकरी की तलाश में जुटने से भी बचेंगे।

क्या है ‘स्टार्टअप इंडिया’ योजना  – What is ‘Startup India’ scheme

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा चलाई गई एक योजना का नाम ‘स्टार्टअप इंडिया’ है। जिसे बीते साल 16 जनवरी 2016 को मोदी सरकार द्वारा लागू किया गया था। इस योजना का प्रमुख उद्देश्य देश के युवा वर्ग के लिए नए अवसर प्रदान करना है।

न्यूज योजना बता दें कि, पीएम मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर साल 2015, को दिल्ली स्थित लाल किले से संपूर्ण राष्ट्र को संबोधित करते हुए इस योजना की घोषणा की थी। जिसके बाद इस अगले साल यानि कि, साल 2016 को लागू किया गया था।

स्टार्टअप इंडिया से फायदा – Advantage from Startup India

इस योजना के तहत युवा उद्यमियों को उद्यमशीलता में शामिल करके एक बेहतर भविष्य के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। इसके मुताबिक 125 लाख बैंको की शाखाएं, युवाओं को ऋण प्रदान कर प्रोत्साहित करेगी।

इसके साथ ही योजना को लागू करने के दौरान पीएम मोदी ने कम से कम एक दलित और एक महिला उद्यमी का समर्थन करने का अनुरोध किया था। इस योजना से ख़ासतौर से नए युवाओं को उद्यम की ओर प्रोत्साहित किया जाएगा जिससे उनके कैरियर के साथ देश के आर्थिक विकास को मज़बूती मिलेगी।

‘स्टार्ट अप इंडिया’ योजना का फायदा – Advantage of ‘Start Up India’ Scheme

‘स्टार्टअप इंडिया’ से देश का हर युवक लाभ कमा सकता है। ये अभियान भारत के प्रत्येक युवा के लिए रोज़गार निर्मित करने में भी सहायक है। जो लोग खुद का व्यवसाय स्थापित करना चाहते है उनके लिए‘स्टार्टअप इंडिया’ काफी मददगार साबित हो सकती है। लाभ निम्न प्रकार से है।

1)    इस योजना में 3 साल तक स्टार्ट अप यूनिट से होने वाली आय पर टैक्स छूट दी गई और साथ ही संबधित स्टार्टअप पर कोई जांच नहीं होगी।

2)    इस योजना में 10,000 करोड़ रुपए का फंड बनाया जाएगा, इसमें हर साल 2,500 करोड़ रुपए का फंड स्टार्टअपस को दिया जाएगा।

3)    योजना के मुताबिक 4 साल तक 500 करोड़ रुपए प्रति वर्ष का क्रेडिट गांरटी फंड स्टार्टअपस के लिए बनाया जाएगा।

4)    ऑनलाइन पोर्टल लॉन्च साथ ही मोबाइल ऐप के जरिए छोटा इ–फार्म पेश किया गया था। जिसमें रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था की गई है।

5)    पेटेंट एप्लीकेशन फीस में 80 फीसदी छूट दी गई।

6)    पब्लिक और सरकारी खरीद में स्टार्टअप को छूट दी गई।

7)     स्टार्टअप के लिए फ़ास्ट एग्जिट पॉलिसी बनाई गई।

8)    अटल इनोवेशन मिशन की शुरुआत की गई, जिसका मकसद स्टार्टअप को क्रिएटिव बनाना होगा साथ ही इंटरप्रन्योर के नेटवर्क को जोड़ा गया। स्टार्टअप को कई सुविधाओं के साथ इनोवेशन के मौके पर राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।

सरकार द्वारा खोले गए उद्यमी सेंटर – Entrepreneur Center opened by the Government

योजना लागू करने के साथ ही सरकार द्वारा ‘ऊष्मायन केंद्र’ यानि ‘Incubation centers’ की स्थापना की गई जो एजूकेशनल इंस्टीट्यूट से जुड़े है साथ ही व्यवसाय योजना और विचार की जानकारी देने में भी मददगार है।

इन सेंटर की मदद से युवा, व्यवसाय किस तरह शुरु किया जाएं और किस तरह का विचार व्यवसाय को उच्च स्तर पर ला सकता है इस तरह की सभी जानकारी प्राप्त कर सकता है। इसके साथ ही यह सेंटर फंडिग करने में सहायक है।

स्टार्टअप इंडिया में शामिल कंपनी – Company involved in Startup India

1.    कपंनी प्राइवेट लिमिटिड होनी चाहिए जिसका कम्पनीज एक्ट के तह पंजीकरण होना अनिवार्य है। इसके अलावा पंजीकृत पार्टनरशिप फर्म या फिर पंजीकृत LLP हो।

2.    कंपनी को स्थापित हुए 5 साल से अधिक समय न हुआ हो।

3.    स्टार्टअप कंपनी नवीनीकरण की दिशा में काम रही हो साथ ही स्टार्टअप में अधिक से अधिक तकनीकी गतिविधियों का प्रयोग किया जा रहा हो।

loading...

बता दें भारत 4,200 उद्यमियों के साथ विश्वभर में तीसरे स्थान पर है। भारत सिर्फ अमेरिका और ब्रिटेन जैसे बड़े देशों के मुकाबले ही स्टार्टअपस में पीछे है। आर्टिकल साभार : न्यूज़योजना

loading...