गुरुवार के दिन करें ये उपाय, मिलेगा जीवन की सभी समस्याओं से छुटकारा

हिन्दू शास्त्रों में शांति व सुख समृद्धि के लिए गुरुवार का दिन का विशेष महत्व रखता है। यह दिन माँ सरस्वती तथा भगवान विष्णु को अर्पित होता है। माना जाता है कि अगर साफ मन से हम इस दिन दोनों की पूजा करते है तो हर मनोकामना जरुर पूरी होती है।

लेकिन इस दिन पूजा करने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है। पहली बात ध्यान रखने वाली होती है कि इस दिन भगवान विष्णु और माँ सरस्वती के अलावा किसी और की पूजा करने से भगवान विष्णु नाराज हो सकते हैं। वहीं इस दिन भगवान विष्णु की पूजा करने पर उनके आशीर्वाद से आपकी हर मनोकामना पूरी होती है! आइए जानते है कि इस दिन उनकी पूजा कैसे करें –

Loading...

गुरुवार के दिन इस प्रकार से भगवान विष्णु की पूजा की जाती है :-

1. सबसे पहले गुरुवार के दिन ब्रह्म महूर्त में नहायें। उसके बाद भगवान विष्णु के लिए घी का दीपक जलाए और उनकी पूजा उपासना करे, साथ ही विष्णु पुराण का पाठ जरूर करें। हिन्दू के शास्त्र की मान्यता अनुसार गुरु का प्रभाव सीधा हमारे मन मस्तिस्क में होता है । जिस व्यक्ति पर गुरु की कृपा होती है उसकी बौद्धिक एवम आर्थिक स्थिति अच्छी हो जाती है ।

2. दूसरा गुरुवार को नहाने के बाद पीले वस्त्र ही धारण करने का प्रयास करें, पीले वस्त्र भगवान विष्णु को बहुत प्यारे है। अगर ऐसा नहीं हो सकता तो पूजा करते वक्त केसर से भगवान विष्णु को तिलक करें और अगर केसर नहीं हैं, तो हल्दी का प्रयोग भी कर सकते है ।

3. तीसरा अगर आप भगवान विष्णु की उपासना करते है तो टोने टोटके आदि में कभी न पड़े इससे भगवान विष्णु नाराज होते है। इसलिए ऐसी किसी नेगेटिव बातो से दूर रहे। इसके साथ गुरुवार के दिन सिर्फ भगवान विष्णु और माँ सरस्वती की ही पूजा करे, किसी अन्य देवी देवता या किसी और की पूजा इस दिन न करें।

4. शास्त्रों के अनुसार गुरु बुद्धि का स्वामी होता है तथा आपके आर्थिक स्थिति पर भी नियंत्रण करता है इसलिए यदि आपका गुरु कमजोर है, तो इस न आप किसी भी बड़े पैसे का लेन देन ना करें इससे आपको आर्थिक समस्याओं से होकर गुजरना पड़ सकता है।

5. इस दिन माता पिता या गुरु का आर्शीवाद जरुर लें। आप उन्हें भेंट के तौर पर पीले रंग का कोई खास उपहार भी दे सकते हैं।

loading...

6. सबसे ख़ास बात की अपने घर के आसपास केले के पेड़ के नीचे शाम को घी का दिया जरूर लगाएं। इसके साथ साथ लड्डू या बेसन की मिठाई का भोग लगे तथा प्रसाद को जरूरतमंदो में बांट दें। और ध्यान रखें कि भगवान विष्णु और जरुरतमंदों के अलावा इस दिन कहीं दान भी न दें!!

loading...