भारतीय वैज्ञानिकों के हाथ लगा समुद्री ‘खजाना’

दुनिया का एक बहुत बड़ा सच है कि सूर्य हमेशा पूर्व से निकलता है और दुनिया के पूर्व में स्थित भारत की ओर पूरा विश्व टकटकी लगाकर देखता रहता है। आखिर देखे भी क्यूँ न, भारत का सनातन धर्म यहाँ का वो हीरा है जिसकी कीमत आंकना भगवान के अलावा किसी के बस का नहीं! भारत की सनातन संस्कृति ने आदिकाल, सिन्धु घाटी सभ्यता से लेकर वैदिक काल तक कितने ही रहस्य समेटे हुए हैं, उसका एक अंश भी अभी ठीक से खोजा न जा सका है। कितने ही वैज्ञानिक और नासा से लेकर सर्न तक कितनी ही राष्ट्रिय-अंतरराष्ट्रीय विज्ञान की संस्थाएं दिन रात यहाँ के रहस्यों पर माथा पच्ची करते रहते हैं, मगर कुछ भी संभव नहीं हो पाता है।

भारत की ऊपरी सतह यानीं हिमालय से लेकर निचली सतह यानीं कि समुद्र की गहराई से भी नीचे तक हर चीज शोध का विषय हैं। समय-समय पर कुछ ऐसे परिणाम सामने भी आये हैं, जिन्होंने विश्व भर के बुद्धिजीवी वर्ग को चौंका दिया। कुछ ऐसा ही द्रश्य उस खोज के बाद देखने को मिल रहा है, जब भारत की जिऑलजिकल सर्वे ऑफ इंडिया यानीं GSI के वैज्ञानिकों ने समुद्री सतह के नीचे भारतीय प्रायद्वीप के नजदीक में लगभग लाखों टन कीमती धातुओं और खनिजों की खोज की है। बता दें कि ऐसा पिछली बार 2014 के दौरान हुआ था जब मंगलुरु, चेन्नै, मन्नार बसीन, अंडमान और निकोबार द्वीप और लक्षद्वीप के आसपास भारी मात्र में समुद्री संसाधनों को पहचाना गया था।

Loading...
loading...

फ़िलहाल वैज्ञानिकों के हाथ जितनी मात्रा में लाइम मड, फोसफेट-रिच और हाइड्रोकार्बन्स जैसी चीजें मिली हैं, उससे कयास लगाया जा रहा है कि पानी के और भीतर वैज्ञानिकों को कुछ और बड़ी सफलतायें मिल सकती है। जिऑलजिकल सर्वे ऑफ इंडिया ने 3 साल की खोज के बाद 181,025 वर्ग किमी का हाई रेजॉल्यूशन सीबेड मोरफोलॉजिकल डेटा तैयार किया है और 10 हजार मिलियन टन लाइम मड के होने की बात कही है। समुद्र रत्नाकर, समुद्र कौसतुभ और समुद्र सौदीकामा नामक तीन अत्याधुनिक अनुसंधान जहाजों को इस काम में लगाया गया है।वहीं इस बारे में जीएसआई के सुपरिंटेंडेंट जिऑलजिस्ट आशीष नाथ का कहना है कि इस खोज का मुख्य लक्ष्य मिनरलाइजेशन के संभावित इलाकों की पहचान करना और मरीन मिनरल सांसधनों का आकलन करना है।

अन्य पढें – 

अगर आप भी घर में काॅकरोच से परेशान हैं तो करें ये उपाय

‘भगवान का अपना बगीचा’ : भारत में स्थित है एशिया का सबसे स्वच्छ गांव

यहाँ विराजित हैं 600 करोड़ के गणेशजी, वज़न है मात्र 36.5 ग्राम

भगवान की बनाई ये दुनिया ऊपर से कितनी ग़ज़ब दिखती है, ड्रोन कैमरे से ली गई इन 20 तस्वीरों में देखिए

भारत में ‘धूम’ मचाएगी ये धाकड़ ‘इंडियन’ बाइक

loading...