2 लड़कियों से पहले की दोस्ती, फिर रेप के बाद पार की इंसानियत की सारी हदें..

इस समय के माहौल को देखते हुए जितना एक महिला को सावधान रहन एकी आवश्यकता है, इस बात को एक महिला के अलावा कोई नहीं समझ सकता. बस जरूरत है तो उसे एक बार ये समझने की है कि वो एक महिला है. यहाँ बात सुरक्षा के अभाव की तो है ही, मगर साथ ही बात एक आदमी के अंदर बन चुके मानसिक रावण की है जो इस समय किसी सड़क किसी चौराहे या घर में भी छिपा बैठा हो सकता है.

अगर इस मानसिक रावण को समझना है तो इस मामले को ही लीजिए और समझने की कोशिश करें कि एक आदमी महिला का दोस्त हो तो सकता है, मगर एक आदमी महिला के लिए दोस्त होने से ज्यादा उसके लिए कितना बड़ा खतरा भी हो सकता है, ये बात महिला को गाँठ मार कर समझ लेनी चाहिए.

Loading...

रुस के वोल्ज्स्की में ओल्गा और डारिया मानक दो लड़कियों ने सोचा भी न होगा कि जिस अलेक्जांद्र नाम के शख्स से वे दोस्ती करने जा रही हैं, वो एक दिन न केवल दोनों को जान से मार देगा बल्कि उनके साथ ऐसी क्रूरता बरतेगा जिसे सुनकर किसी के भी रोंगटे खड़े हो जाएंगे।

मामले अनुसार कुछ दिन पहले दोनों लड़कियों के घरवालों ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई कि उनकी बेटी मिल नहीं रही है। पुलिस की शुरूआती जांच पड़ताल के दौरान सामने आया कि ये लड़कियां आखिरी बार अलेक्जांद्र नामक युवक के साथ नाइटक्लब में देखी गई थी।

उसके बाद अनेक्जांद्र से पूछताछ में जो खुलासा हुआ उसे सुनकर पुलिस वाले भी दंग रह गए। अलेक्जांद्र ने पुलिस को उसने पहले तो बहला फुसलाकर दोनों का रेप किया और फिर उन्हें मौत के घाट उतार दिया।

वहीं जब दोनों की लाश के बारे में उससे पूछा तो उसने कुछ ऐसा बताया जिसे जानकर पुलिस वाले हैरान रह गए। क्यूंकि उसने दोनों लड़कियों की लाश के छोटे-छोटे टुकड़े करकर कुत्तों को खिला दिए थे, जिनमें से कुछ टुकड़े जंगल में मिले हैं।

loading...

तो सवाल ये ही है कि क्या लड़कियों को आदमियों से दोस्ती करने से पहले अपने महिला होने के विषय में सोचना नहीं चाहिए ?? 

loading...