वैज्ञानिक भी पानी भरते हैं ऐसे रहस्यों के आगे, दंग रह जायेंगे इनके बारे में जानकर..

कहते है भगवान ने पहले प्रकृति बनाई उसके बाद इंसान बनाया और आज इंसान उसी प्रकृति का विनाश कर रहा है, अपने खिलोने बनाकर। आज हम विज्ञान के ज़रिए कितनी भी तरक्की क्यों ना कर लें, लेकिन प्रकृति की हर एक चाल हमारी हर उपलब्धि से दो कदम आगे होती है।

वैज्ञानिक अपने कई शोध में प्रकृति का रहस्य पता करने की कोशिश में रहता है और आज तक भी ये सिर्फ कोशिश ही है। पुरातत्व विभाग अक्सर ऐसी खोजे करता है जिनका वैज्ञानिक भी जवाब ढूंढ़ते रह जाते हैं।

Loading...

1. खिसकते पत्थर :- कैलिफोर्निया की डेथ वैली के खिसकते पत्थर आज भी वैज्ञानिकों के लिए अनसुलझी पहेली बन चुके है । 1972 में इस रहस्य को खोलने के लिए वैज्ञानिकों ने एक टीम बनाई थी, लेकिन वो पूरी तरह से इस काम में नाकाम रही। नाकामी का वह दौर आज के दिन भी ज़ारी है।

2. सहारा रेगिस्तान में बना पत्थरों का ढांचा :- यह बात सन 1973 की है जब पुरातत्व विभाग ने सहारा के रेगिस्तान में पत्थरों का एक ढांचा खोज निकाला था, जो माना जा रहा है की 6000 साल पुराना था. अध्ययन से पता चला की इस ढांचे का इस्तेमाल उस वक़्त खगौलिय शास्त्र के लिए किया गया था. लेकिन इतने पुराने समय की यह खोज हर विज्ञानिक के लिए पहली है.

3. लोहे का करोड़ों साल पुराना हथौड़ा :- यह बात है सन् 1934 में जब ये हथौड़ा पुरातत्व विभाग को मिला तो ये एक चौंका देने वाली घटना साबित हुई थी, जिसका कारण इस हथौड़े के लोहे की शुद्धता भी थी. साथ ही इस हथौड़े में लगी लकड़ी भी कोयला बन चुकी थी । मतलब साफ़ था की , यह हथौड़ा करोड़ों साल पुराना था। जबकि इंसानों ने ऐसे औज़ार की तरह उपयोग सिर्फ 10 हजार साल पहले शुरू किए थे।

4. पिरामिड की ताकत :- प्राचीन मेक्सिकन शहर की दीवार अभ्रक से बनी हुई है। अभ्रक ब्राज़ील में मिलता है जो यहां ये हज़ारों मील की दूर पर है। इसका इस्तेमाल ऊर्जा प्रदान करने के लिए अक्सर किया जाता है। तो क्या उस वक़्त के कारीगर इससे ऊर्जा का संचार कर रहे थे, ये अभी भी एक रहस्य बना चूका हुआ है।

loading...

5. प्राचीन रॉकेट की खोज :- आप को बता दे की 5000 ईसा पूर्व की इस पेंटिंग में आपको रॉकेट दिख ही रहा होगा। वैज्ञानिक आज भी सोच रहें हैं कि क्या उस वक़्त ऐसा कोई रॉकेट सच में था और अगर नहीं तो उन्होंने ये उस वक़्त कैसे सोचा ?

loading...