योगी आदित्यनाथ की कुंडली क्या कहती है यूपी के बारे में, उसे जानकर दंग रह जायेंगे आप भी..

भारत के सबसे ज्यादा जनसँख्या वाले राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने काम करने के तरीके के चलते विश्व विख्यात हो चुके हैं. इस समय उन्होंने यूपी को भारत का सबसे बेहतरीन राज्य बनाने का जिम्मा उठा रखा है. महंत योगी आदित्यनाथ ही वो नाम है जो समर्थकों के मामले में अपनी पार्टी के पीएम मोदी को ही टक्कर देते हैं आज के दिन.

19 मार्च 2017 को उत्तर प्रदेश में 21वे मुख्यमंत्री का पद सँभालने के बाद से ही लगातार सोशल नेटवर्किंग साइट्स और ब्रेकिंग न्यूज़ में वे छाए हुए हैं. कट्टर हिंदूवादी के रूप में पहचान बनाने वाले योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश की छवि को सुधारने के लिए निरंतर कई बड़े कदम उठा रहे हैं और लोग इसकी तारीफ भी कर रहे हैं.

Loading...

1998 से लगातार भाजपा की सीट पर गोरखपुर से जनता की सेवा कर रहे योगी आदित्यनाथ द्वारा उत्तर प्रदेश की सत्ता सँभालने के बाद अयोध्या में राम मंदिर बनने के लिए लोगो की उम्मीद और बढ़ गयी है. लेकिन यहाँ सबसे बड़ा सवाल ये है कि क्या योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश की जनता की नजरो में खरा उतर पाएंगे? क्या वे उत्तर प्रदेश में राम राज्य ला पाएंगे? इन सब सवालों के जवाब उनकी कुंडली के द्वारा दावा किया जा रहा है …

जानें क्या कहती है उनकी कुंडली उनके बारे में –

कुंडली अनुसार उनके जन्म का चंद्रमा यानि की कुम्भ से छठे, आठवे अशुभ अक्ष पर है. 19 मार्च 20017 को लगभग 2:18 मिनट पर उन्होंने शपथ ली. उनकी शपथ लेने की कुंडली और उत्तर प्रदेश की स्थापना कुंडली से पता चलता है की उत्तर प्रदेश में भाजपा की राह बहुत ही कठिन होगी और उन्हें काफी चुनौतियों का सामना करना पढ़ सकता है.

कुंडली अनुसार यूपी में कानून से जुड़े मुद्दों पर योगी आदित्यनाथ की सरकार तेजी से फैसला लेगी. अगले कुछ दिनों में अधिकारियो के तबादले बहुत तेजी से होंगे. इनकी सरकार में कुंडली धार्मिक विवाद की तरफ इशारा भी कर रही है. क्या इस तरह के मुद्दे उनकी सरकार पर भारी पड़ेंगे, यह देखना भी अहम रहेगा.

इनकी शपथ कुंडली पर गौर करे तो पता चलता है की उत्तर प्रदेश में इनकी सरकार शुरुआत से ही काफी सक्रिय, परिश्रमी और द्रढ़ संकल्प होगी और हर बार कुछ नए नए कदम उठाएगी. जिसके चलते कार्यभार सँभालने के बाद ही सुधार का कार्य भी शुरू हो जायेगा. मगर क्लेश और विरोध भी उपज सकता है, जो इनकी राजनीती में अड़चन ढाल सकता है.

मगर तमाम बाधाओं के बाद भी योगी सरकार अपने एजेंडे को लागू करने में तत्पर रहेगी. उनकी कुंडली से पता चलता है कि विपक्ष के लोग योगी जी की योजनाओं को फेल करने के लिए एकजूट हो जायेंगे. मगर योगी से टक्कर लेना विपक्ष के बस में नहीं है.

अब यह देखना होगा की योगी सरकार यूपी में किस तरह बदलाव ला पाती है.

loading...

loading...